No Picture

दृष्टिकोण

September 22, 2016 sangeeta 0

जीवन क्या है.. एक चाहत अछी और बुरी दो राहें हैं जीवन क्या है.. एक पहेली ना कोई साथी, ना कोई सहेली जीवन क्या है.. […]

No Picture

सदाचार

September 13, 2016 sangeeta 0

कहते हैं ” इंसान अगर नेकनियत है तो वाह्य-बुराईयाँ उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकती “। यानी काम, क्रोध, लोभ, अहंकार और मोह से परे निष्कपट […]

No Picture

किनारा

September 6, 2016 sangeeta 0

चली जा रही थी एक नयी रोशनी की तलाश में एक नयी उम्मीद के साथ एक नयी ऊर्जा के साथ दूर था किनारा चलते चलते […]